888Starz पर ज़िम्मेदारी के साथ गेंबलिंग

888Starz इंडिया जिम्मेदाराना गेंबलिंग के सिद्धान्त का पालन करता है और सभी कस्टमर्स को बताता है कि गेंबलिंग केवल मनोरंजन के लिए है। जो लोग इसे आय का स्त्रोत मानते हैं, चाहे अतिरिक्त आय का ही, उन्हें अपना पैसा खोने का जोखिम रहता है और साथ ही ऐसे लोग खेल सट्टेबाजी और कैसीनो गेम्स की लत के शिकार हो जाते हैं। शुरू से ही, गेंबलिंग के प्रति अपना नज़रिया एकदम सही रखें, नहीं तो आगे चलकर आपका यह शौक आपके लिए खतरनाक साबित होगा।

888starz जिम्मेदार गेमिंग के सिद्धांतों का पालन करता है।

मुख्य बात

हमारी कंपनी का मुख्य कार्य सुरक्षित और पारदर्शी गेंबलिंग प्रक्रिया है। यूजर्स को धोखाधड़ी से बचाने के लिए कई तकनीकी पहलुओं पर ध्यान दिया जाता है। 888Starz की आधिकारिक वेबसाइट पर, इसके लिए कई नियम व प्रतिबंध बनाए गए हैं: 

  • केवल 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को ही स्पोर्ट्स बैटिंग की अनुमति है। यदि आपकी उम्र 18 साल से कम है, तो गलत जन्मतिथि बताने की कोशिश न करें। गलत जानकारी प्रदान करने के लिए आपका अकाउंट ब्लॉक हो सकता है;
  • कोई भी खिलाड़ी एक से अधिक रजिस्टर्ड अकाउंट नहीं बना सकता है। री-रजिस्टर करने से आपका अकाउंट ब्लॉक हो जाएगा और आपकी अकाउंट के फंडस फ्रीज़ कर दिये जाएँगे;
  • सिक्योरिटी सर्विस नियमित रूप से अकाउंट, फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन आदि सब चीजों को चैक करती है;
  • साइट पर वेरिफिकेशन भी किया जा सकता है – इसमें आपकी पहचान की पुष्टि की जा सकती है।

इससे खेल निष्पक्ष रहता है और सट्टेबाजी के लिए एक सुरक्षित माहौल बनता है, साथ ही इससे संभावित नुकसान से भी बचा जा सकता है। 

हम सभी गेंबलर्स को बताते रहते हैं कि गेंबलिंग की लत एक गंभीर मानसिक बीमारी है, जो आपके निजी और पारिवारिक बजट के साथ पारिवारिक और दोस्ताना सम्बन्धों को भी खराब कर देती है।

हर किसी में कुछ हद तक गेंबलिंग की यह लत लग सकती है। और इस लत की गहराई समझने के लिए, आपको नीचे दिये गए प्रश्नों का उत्तर देना होगा: 

  • क्या गेंबलिंग का आपका शौक अच्छा समय बिताने और आनंद लेने से कहीं ज़्यादा है।
  • जब आप लंबे समय तक सट्टा नहीं लगा पाते हैं तो क्या आपको तनाव, गुस्सा और नाराजगी महसूस होती है।
  • क्या आप समान्य कामों के बजाय गेम पर ज़्यादा समय बिताते हैं।
  • क्या आप वो ही राशि दाव लगाते हैं जो आप वहन कर सकते हैं या फिर किसी से उधार लेकर लगाते हैं।
  • क्या आपके सट्टेबाजी के शौक के कारण आपका अपने दोस्तों और रिशतेदारों से रिश्ता खराब होता है। 

जिम्मेदार गेमिंग की सलाह का पालन करें।

इन सवालों का जवाब देकर, आप समझ सकते हैं कि आपको यह लत कम है या ज़्यादा है और क्या आप अभी इस लत के शिकार हैं।

गेम की लत से निपटने के टिप्स

लूडोम्निया एक गंभीर मानसिक बीमारी है जो हर तरह की गेंबलिंग और स्पोर्ट्स बैटिंग की लत के रूप में आती है। दुनिया में लाखों लोग इस लत से पीड़ित हैं और किसी न किसी रूप में इससे प्रभावित हैं। गेंबलिंग की लत के इस जोखिम को कम करने के लिए, कुछ सुझाव हैं जिनका पालन किया जाना चाहिए: 

  • राशि को केवल डिपॉजिट पर और सट्टेबाजी पर ही खर्च करें, इससे जो नुकसान होगा वह आपके जीवन को प्रभावित नहीं करेगा;
  • सट्टा खेलने के लिए पैसे उधार न लें;
  • आप गेम पर कितनी राशि खर्च कर सकते हैं यह पहले से ही निर्धारित कर लें। साथ ही बजट की एक सीमा निर्धारित कर लें;
  • एक सफल सट्टा लगाने के बाद पुरानी हार की भरपाई के लिए सट्टे की राशि ज़्यादा न बढ़ाएँ।

यदि आपको लगता है कि आपकी भावनाएं आपके निर्णय को प्रभावित करती हैं, तो तुरंत सट्टा खेलना बंद कर दें। यदि आप खुद पर नियंत्रण खो देते हैं, तो आप सपोर्ट टीम से बोलकर अपने अकाउंट में डिपॉजिट की सीमा निर्धारित करवा सकते हैं, या आपके अकाउंट को कुछ समय के लिए फ्रीज़ करने के लिए कह सकते हैं। सपोर्ट से आपको ऐसी विशेष संस्थाओं के पते और फोन नंबर मिल जाएँगे जो लोगों को गेंबलिंग की लत से निपटने में मदद करते हैं।

888starz जुए की लत से बचने में मदद करता है।